अमेरिकी राष्ट्रपति को भारतीयों पर भरोसा: बाइडेन की इच्छा- उनके एडवाइजरी कमिशन में भारतीय मूल के 4 सलाहकार हों

0
72

वॉशिंगटनएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने एडवाइजरी कमिशन में 4 भारतीय अमेरिकियों को शामिल करने की इच्छा जताई है। व्हाइट हाउस से जारी बयान के मुताबिक, कमीशन में शामिल 23 लोगों में भारतीय मूल के अजय जैन भूटोरिया, कमल कलसी, सोनल शाह और स्मिता शाह भी शामिल होंगे। यह आयोग AANHPI समुदाय के लोगों के विकास के लिए बनने वाली पॉलिसियों पर राष्ट्रपति को सलाह देगा।

क्या है AANHPI समुदाय
एशियाई अमेरिकी, हवाई निवासी और पैसिफिक आइलैंड के लोगों को संयुक्त रूप से AANHPI समुदाय कहा जाता है। व्हाइट हाउस ने अपने बयान में बताया- कमीशन राष्ट्रपति को बताएगा कि किस तरह एशियाई अमेरिकी, हवाई निवासी और पैसिफिक आइलैंड के लोगों को सार्वजनिक, निजी और गैर-लाभकारी सेक्टर्स में बराबरी पर लाने और नए मौके तैयार करने के लिए काम किया जाए।

जेनोफोबिया और हिंसा के खिलाफ देगा सलाह
यह आयोग एशियाई लोगों के खिलाफ होने वाले जेनोफोबिया (विदेशी लोगों को पसंद न करना) और हिंसा से निपटने की नीतियों पर सलाह देगा। इसके साथ ही महिलाओं, एलजीबीटीक्यू+ लोगों और दिव्यांगों की परेशानियों को दूर करने की पॉलिसी पर काम करेगा। आयोग पूरे अमेरिका में AANHPI समुदायों की विविधता को भी दर्शाने की कोशिश करेगा।

आयोग में शामिल भारतीयों की खासियत
अजय भुटोरिया सिलिकॉन वैली में टेक्नोलॉजी एक्जूकेटिव, कम्युनिटी लीडर और लेखक हैं। वहीं सोनल शाह सोशल इंपेक्ट और इनोवेशन लीडर हैं, जिन्होंने 25 साल तक एकेडमिक, गवर्नमेंट और सोशल सेक्टर में प्रभावशाली काम किए हैं।

स्मिता एन शाह इंजीनियर, एंटरप्रेन्योर और नागरिक नेता हैं। इसी के साथ शिकागो में स्थित स्पैन टेक कंपनी की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) भी हैं। वहीं डॉ. कमल सिंह कलसी, न्यू जर्सी में इमरजेंसी मेडिसिन फिजिशियन हैं। इन्होंने 20 साल तक सेना के लिए अपनी सेवाएं दी है। अफगानिस्तान में घायलों की देखभाल करने के लिए इन्हें ब्रॉन्ज स्टार मेडल से सम्मानित किया गया था।

खबरें और भी हैं…

विदेश | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here