अब पाॅश सेक्टराें में भी मिलने लगे पॉजिटिव: चंडीगढ़ में 390 काेराेना मरीज, इनमें 379 हाेम आइसाेलेट, मोहाली में 319 और पंचकूला में 313 केस

0
24

  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • 390 Corona Patients In Chandigarh, 379 Of Them In Home Isolation, 319 In Mohali And 313 In Panchkula

चंडीगढ़4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

नए साल में थर्ड वेव इस रफ्तार से बढ़ी है कि राेजाना काेविड पॉजिटिव केसेस में कई गुना इजाफा हुआ है। बढ़ते केसाें काे देखते हुए जीएमसीएच-32 और जीएमएसएच-16 ने साेमवार से ओपीडी बंद करने का फैसला लिया है। शुक्रवार काे 390 पॉजिटिव केस आए अच्छी बात यह है कि इनमें 379 मरीजाें में माइल्ड सिम्टम हाेने की वजह से उन्हें हाेम आइसोलेट किया गया। केवल 11 मरीजों को ही हॉस्पिटल में दाखिल किया गया। इनमें से 321 ने वैक्सीन की दाेनाें डाेज लगवाई है।

28 मरीज ऐसे हैं, जिन्हाेंने काेई डाेज नहीं लगवाई। 15 मरीज 15 से 18 साल के हैं, जिन्हें वैक्सीन की डाेज नहीं लगी है। वहीं, मोहाली में 319, पंचकूला में 313 पॉजिटिव केस आए। चंडीगढ़ में पिछले सात दिन में एक दिन में औसत मरीजों का आंकड़ा 188 पहुंच गया है। शुक्रवार काे पाॅजिटिविटी दर 10.77 फीसदी रही। काेविड से अभी तक शहर में 1080 लाेग जान गंवा चुके हैं। शहर में अभी तक 67214 मरीज पॉजिटिव हाे चुके हैं। वहीं 64811 मरीज ठीक हाे चुके हैं। शुक्रवार काे 46 मरीज ठीक हाेकर अपने-अपने घराें काे चले गए।

जीएमएसएच-16 की ओपीडी भी साेमवार से बंद
जीएमएसएच-16 की ओपीडी भी साेमवार से बंद हाे रही है। डायरेक्टर हेल्थ सर्विसेज डा. सुमन सिंह ने बताया कि साेमवार से जीएमएसएच-16 में ओपीडी सर्विसेज बंद हाे रही हैं। मरीज टेली कंसल्टेंसी के जरिए देखे जाएंगे। इसके अलावा जरूरतमंद मरीजाें काे फिजिकल चेकअप के लिए रजिस्ट्रेशन आदि करने संबंधी टेलीफाेन नंबर आदि शनिवार काे जारी किए जाएंगे।

थर्ड वेव: पीजीआई के 157 डाॅक्टर और 352 हेल्थ केयर वर्कर पॉजिटिव
पीजीआई में 20 दिसंबर से 7 जनवरी तक 352 हेल्थ केयर वर्कर्स और 157 डाॅक्टर्स पॉजिटिव पाये गए हैं। इनमें से 95 फीसदी ने वैक्सीन की दाेनाें डाेज लगवाई हुई है। इन सभी में माइल्ड सिम्टम हैं। जाे हेल्थ केयर वर्कर्स पीजीआई के हाॅस्टल्स में रहे हैं और उनके पास हाेम आईसालेशन की सुविधा नहीं है, उन्हें न्यू नेहरू हॉस्पिटल एक्सटेंशन के वार्ड में आइसोलेट किया गया है।

पीजीआई ने पॉजिटिव केसाें के बारे में यह खुलासा नहीं किया है कि यह ओमिक्राॅन वेरिएंट से पीड़ित हैं या नहीं। लेकिन इतना जरूर है कि जिस तेजी से यह काेविड पॉजिटिव हाे रहे हैं उससे खतरा ओमिक्राॅन वेरिएंट का ज्यादा लग रहा है। पीजीआई ने सभी डिपार्टमेंट हेड्स काे सलाह दी गई है कि वह काेविड नियमाें का सख्ती से पालन करवाएं।

खबरें और भी हैं…

चंडीगढ़ | दैनिक भास्कर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here